भारतीय

अपनी संस्कृति के पैरोकार और पहरेदार बने तिरंगा हर भारतीय की शान : स्वामी चिदानंद

ऋषिकेश ।

परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने अमेरिका की धरती से घर-घर तिरंगा-हर घर तिरंगा का संदेश दिया। अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के परिवारों का आह्वान करते हुये कहा कि विदेश की धरती पर रहते हुये अपनी मातृभूमि और मातृभाषा को हमेशा याद रखे। अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों को 13 से 15 अगस्त को तिरंगा फहराने हेतु प्रोत्साहित किया।
अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के परिवारों को जाग्रत करते हुये स्वामी जी ने कहा कि हमारी कर्मभूमि कोई भी हो परन्तु अपनी जन्मभूमि से हमेशा जुडे रहे। घर-घर तिरंगा-हर घर तिरंगा अभियान को एक उत्सव की तरह मनाएं तथा अपनी कर्मभूमि और जन्मभूमि के प्रति समर्पित रहें..भारतीय मूल के लोग चाहे कहीं पर भी हो परन्तु हर भारतीय के दिल में भारत बसता है क्योकि तिरंगे का सम्मान अर्थात भारत का सम्मान।
*स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान से प्रत्येक भारतीय के दिल में राष्ट्रभक्ति और तिरंगे के प्रति सम्मान की भावना में वृद्धि होगी। तिरंगा भारत की एक समृद्ध एवं ऐतिहासिक विरासत है। तिरंगा हमारी राष्ट्रीय चेतना का प्रतीक है। आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर माननीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में संचालित ‘हर घर तिरंगा’ एक महत्वपूर्ण अभियान है। भारत की आजादी के 75वें वर्ष पर तिरंगे को हर घर और हर घाट पर फहराने के लिये सभी देशवासियों को प्रोत्साहित करना नितांत आवश्यक है।
*स्वामी जी ने कहा कि स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में भारत में हर घर में तिरंगा फहराने से तात्पर्य है तिरंगे से अपना व्यक्तिगत संबंध स्थापित करना है। यह अभियान राष्ट्र निर्माण और राष्ट्र-भक्ति के प्रति हम सभी भारतीयों की प्रतिबद्धता का प्रतीक है। भारत का राष्ट्रध्वज तिरंगा भारत माता और भारतीयों की शान का प्रतीक है। हमारा राष्ट्रीय ध्वज एकता, समृद्धि और शान्ति का प्रतीक है तथा चरखा देश की प्रगति का प्रतिनिधित्व करता है। ध्वज के शीर्ष पर स्थित केसरी रंग ’साहस’ को दर्शाता है, मध्य में सफेद रंग ‘शांति और सच्चाई’ का प्रतिनिधित्व करता है एवं ध्वज के नीचे स्थित हरा रंग ‘भूमि की उर्वरता, वृद्धि और शुभ्रता’ का प्रतीक है। ध्वज में विद्यमान चरखे को 24 तीलियों से युक्त अशोक चक्र द्वारा प्रतिस्थापित किया गया। इसका उद्देश्य यह है कि गतिशीलता ही जीवन है। हर घर तिरंगा अभियान से प्रत्येक भारतीय के दिल में तिरंगे के प्रति सम्मान की भावना जाग्रत होगी। आईये इसे उत्सव की तरह मनायें।

Check Also

शिव

परमार्थ निकेतन द्वारा शिव भक्तों के लिए जल मंदिरो की स्थापना

-शिव भक्तों के लिये स्वच्छ जल की व्यवस्था*   -बैराज, नीलकंठ मार्ग, लक्ष्मण झूला और राजाजी …