Breaking News

अपर्णा यादव गौ माता की सेवा में

गौ सेवा आयोग संभालेंगी अपर्णा शायद
नेशनल वार्ता ब्यूरो
सुनने में आ रहा है कि मुलायम खानदान की छोटी बहू अपर्णा यादव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गौ माता की सेवा में समर्पित करने जा रहे हैं। हो सकता है कि वे कुछ दिनों के अन्दर गौ सेवा आयोग की अध्यक्षा मनोनीत कर दी जाएं और उन्हें राज्यमंत्री के दर्जे से सुशोभित कर दिया जाए। अपर्णा यादव राम भक्त हैं और इस नाते गऊ में उनकी श्रद्धा के चलते उन्हें यह काम सौंप दिया जाए। उत्तर प्रदेश देश का सबसे अधिक आबादी वाला प्रदेश है। इस प्रदेश का एक बड़ा हिस्सा गंगा युमना के दोआब में आता है। यह प्रदेश गोमती, घाघरा और सरयू का प्रदेश है। इस प्रदेश में गौधन प्रचुर संख्या में है। अभी हाल में सम्पन्न हुए चुनाव के दौरान योगी के विपक्षियों ने आवारा पशुओं के मुद्दे को भुनाने की भरसक कोशिश की। कुछ हद तक वे कामयाब भी रहे। प्रदेश में आवारा बैलों की संख्या भी बढ़ रही है। गौधन का अच्छा प्रबन्धन कर प्रदेश आर्थिक स्थिति को भी बेहतर किया जा सकता है। डेयरी उद्योग को बढ़ावा दिया जा सकता है। गौधन के गोबर से तैयार होने वाली खाद की गुणवत्ता को बेहतर करके जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा सकता है। आवारा बैलों से फसलों को होने वाली हानि और यातायात में आने वाली परेशानियों को दूर किया जा सकता है। इस नाते, गौधन आयोग का काम बहुत महत्वपर्ण है। इस विभाग में एक मेहनती और जुझारू व्यक्ति की आवश्यकता महसूस की जा रही है। हो सकता है कि अपर्णा यादव गौ सेवा आयोग की अध्यक्षा बन कर प्रदेश को खुशहाली की ओर ले जाने की दिशा में चमत्कार कर सकें। उनसे प्रदेश को खासी अपेक्षाएं भी हैं। वे भारतीय संस्कृति में श्रद्धा भाव रखती हैं। मुख्यमंत्री योगी इस बार कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते। उनका ध्येय है प्रदेश को गौरव दिलाना और देश को दुनिया में नम्बर वन बनाना। यदि उन्हें गौ आयोग नहीं मिला तो वे महिला आयोग का दायित्व सॅभाल सकती हैं। -वीरेन्द्र देव गौड, पत्रकार, देहरादून।

Check Also

जनसंख्या

जनसंख्या नियंत्रण सबके लिए आवश्यक

भारत में जनसंख्या विस्फोट के कुप्रभाव साफ-साफ दिखाई दे रहे हैं। जनसंख्या में बेलगाम बढ़ोत्तरी …