Breaking News

चन्द्रपुर कॉलेज मुकुटधर पाण्डेय के नाम पर होगा: मुख्यमंत्री

-विभिन्न समाजों को सामाजिक भवन के लिए ७५ लाख रूपए की स्वीकृति: डभरा में खुलेगी सब्जी मंडी

-चन्द्रपुर में विभिन्न समाज और संगठनों के प्रतिनिधियों से की मुलाकात

रायपुर (जनसंपर्क विभाग)।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज भेेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान आज नवगठित जिला सक्ती के चन्द्रपुर विश्राम में विभिन्न समाजों के प्रमुख और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकातकर सामाजिक गतिविधियों और उनकी समस्याओं के बारे में चर्चा की। स्वर्गीय मुकुटधर पाण्डेय स्मृति समिति की मांग पर मुख्यमंत्री ने चन्द्रपुर के कॉलेज का नामकरण मुकुटधर पाण्डेय के नाम पर करने की बात कही और पुस्तकालय की मांग पर सहमति जताते हुए डभरा में सब्जी मंडी खोलने की घोषणा की। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पूर्व महामहिम राष्ट्रपति से सम्मानित नीलांबर देवांगन ने कोसा से बना जैकेट पहनाकर अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री से मुलाकात करने आये विभिन्न समाज के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा सभी वर्गों के हितों के लिए कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही है। सभी समाज के लोगों को शासकी योजनाओं और कार्यक्रमों का लाभ समाज के जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने वाले सक्रिय भागीदारी निभानी चाहिए। मुख्यमंत्री  बघेल ने कहा कि समाज के लोगों को बेहतर शिक्षा की सुविधा के लिए बच्चों को प्रेरित और उत्साहित करना चाहिए। उन्होंने शासन द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के साथ मंच पर विधायक रामकुमार यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष यनिता चन्द्रा, ऊर्जा सचिव अंकित आनंद, प्रभारी सचिव  धनंजय देवांगन और कलेक्टर श्रीमती नुपूर राशि पन्ना भी मौजूद थीं।मुख्यमंत्री ने देवांगन समाज की मांग पर भवन निर्माण के लिए २५ लाख रूपए, उरांव समाज की मांग पर मुक्तिधाम में शेड निर्माण और माली समाज की मांग पर धर्मशाला के लिए २० लाख रूपए, ग्राम खैरा में मैत्री समाज के भवन के लिए १० लाख रूपए, कबीर समाज के सतसंग भवन के लिए २० लाख रूपए स्वीकृत करने की भी घोषणा की। इसी प्रकार अन्य समाज में निषाद समाज, चन्द्रा समाज, यादव समाज, नाई समाज, संवरा समाज, केशरवानी समाज द्वारा जमीन की मांग के संबंध में प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों से कहा कि शासकीय जमीन के लिए कलेक्टर के पास आवेदन करें और जमीन समाज के नाम पर रजिस्ट्री होने के बाद आर्थिक सहयोग की बात कही।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कंवर समाज के प्रतिनिधि मंडल द्वारा ग्राम पंचायत टूण्ड्री में कृषि कॉलेज की मांग पर पहले वहां भवन होने की बात कही। उन्होंने बताया कि कैबिनेट की बैठक में कल ही यह फैसला लिया गया है कि कॉलेज के लिए सरकार पूरा सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में कलेक्टर को इस विषय में जानकारी देने के निर्देश भी दिए और कहा कि एक समिति बनाकर कॉलेज का संचालन किया जाए। ब्राम्हण गोस्वामी समाज द्वारा कलमा में बाढ़ से बचाव राहत कार्य के संबंध में मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने आज ही सभी बाढ़ग्रस्त क्षेत्र में आवश्यक बचाव के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। मुख्यमंत्री को तहसील साहू समाज के प्रतिनिधिमंडल ने सामाजिक भवन निर्माण में पूर्व में किए गए सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। इसी प्रकार राजीव मितान क्लब के सदस्यों ने मंच देने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए सर्वसुविधायुक्त उपलब्ध कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने इस पर आउटडोर के लिए सहयोग करने की बात कही। मुख्यमंत्री ने सारथी समाज के प्रतिनिधिमंडल को रोजगार के लिए रीपा योजना की जानकारी देते हुए इसका लाभ उठाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि आगामी समय में होने वाली प्रतियोगिता परीक्षा के लिए भी युवा तैयारी करें। मुस्लिम समाज चन्द्रपुर के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को कल दरगाह में आने का निमंत्रण दिया, जिसे मुख्यमंत्री ने सहर्ष स्वीकार किया।
दिव्यांग उद्धव को टेलरिंग के लिए ५० हजार रूपए की स्वीकृति
दिव्यांग उद्धव यादव ने मुख्यमंत्री को अपनी आर्थिक समस्या बताई तो मुख्यमंत्री  बघेल ने उसे टेलरिंग काम को बढ़ाने के लिए राशि मांगने की सलाह दी और ५० हजार रूपए की राशि देने की घोषणा की। सतनामी समाज की मांग पर उन्होंने मालखरौदा में सामाजिक भवन में सहयोग की मांग पर सहमति जताई। इसी प्रकार ग्राम खरतोला में तालाब पटने के कारण जल-स्तर नीचे चले जाने की बात पर मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। गोंड समाज ने मुख्यमंत्री को ९ अगस्त की छुट्टी घोषित करने के लिए धन्यवाद दिया। खरसियां तहसील के बरगड़ को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग पर मुख्यमंत्री ने रायगढ़ कलेक्टर से इस संबंध में बात करने की बात कही। संवरा समाज ने जनजाति के मात्रात्मक त्रुटि के सुधार के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

Check Also

मुख्यमंत्री बघेल ने एनपीएस की राशि, जीएसटी क्षतिपूर्ति की मांग दोहराई

-कहा, राज्य का अंश ‘पृथक पेंशन निधि’ में किया जाएगा जमा, प्रतिभूतियों में होगा निवेश …