Breaking News

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गृह मंत्री अमित शाह से की भेंट

देहरादून (सू0वि0) । मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को नई दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री  अमित शाह से भेंट की। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री को जोशीमठ क्षेत्र में हो रहे भूधंसाव से उत्पन्न स्थिति की विस्तृत जानकारी दी, तथा आपदा राहत हेतु केंद्रीय सहायता का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री को अवगत कराया कि जोशीमठ शहर जनपद चमोली का तहसील मुख्यालय, श्री बद्रीनाथ जी का शीतकालीन निवास स्थान है, तथा सामरिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण स्थान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जोशीमठ पुराने भूस्खलन के मोटी परत के मलबे के ऊपर बसा है। यद्यपि भूस्खलन, भवनों में दरारों का इतिहास पुराना है परन्तु ०२.०१.२०२३ की रात से भवनों में मोटी दरारें दृष्टिगोचर हुई तथा जे०पी० प्लान्ट के नीचे ५०० एल०पी०एम० की नई धारा फूटने की शिकायत प्राप्त हुई। उन्होंने कहा कि अभी तक क्षेत्र का २५ प्रतिशत भूभाग, भूधंसाव से प्रभावित हैं जिसकी अनुमानित जनसंख्या लगभग २५००० है, पालिका क्षेत्र में दर्ज भवन लगभग ४५०० है, उस में से ८४९ भवनों में चैड़ी दरारें परिलक्षित हो चुकी है, अस्थायी रूप से विस्थापित परिवार २५० हैं, सर्वे गतिमान है एवं उक्त प्रभावित परिवार तथा भवन निरन्तर बढ़ रहे हैं। जबकि पुनर्वास हेतु पांच स्थल चिन्हित किये गये है, जिनका भूगर्भीय परीक्षण किया जा रहा है। जोशीमठ के कुल ०९ वार्ड में से ०४ वार्ड पूर्णरूपेण प्रभावित हैं जबकि ०८ केन्द्रीय तकनीकी संस्थान प्रभावित क्षेत्र में वैज्ञानिक परीक्षण कर रहे है। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री को अवगत कराया कि १६ से २२ अगस्त २०२२ के मध्य डनसजप क्ेबपचसपदंतल ब्वउउपजजमम न्ैक्ड।एळैप्ए प्प्ज् त्ववताममए ब्ठत्प्ए त्ववताममए ॅप्भ्ळ) ने क्षेत्र का स्थलीय सर्वेक्षण किया था एवं भूधंसाव के कारण एवं उपाय इंगित किये गये थे साथ ही सचिव आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग, उत्तराखण्ड शासन द्वारा ०५ से ०७ जनवरी २०२३ के मध्य डनसजप क्ेबपचसपदंतल ब्वउउपजजमम न्ैक्ड।एळैप्ए प्प्ज् त्ववताममए ब्ठत्प्ए त्ववताममए ॅप्भ्ळद्ध के माध्यम से स्थलीय निरीक्षण किया था एवं कतिपय ब्वदबतमजम तमबवउउमदकंजपवद किये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ८ जनवरी २०२३ पी०एम०ओ०, भारत सरकार के द्वारा कैबिनेट सचिव, छक्ड। तथा न्ैक्ड। के अन्य केन्द्रीय विभागों के साथ एक समीक्षा बैठक आहूत की गई। तथा ०९ जनवरी २०२३ को डभ्।ए ळव्प् की भ्पही च्वूमतमक ज्मंउ एवं छक्ड। के समस्त सदस्यों द्वारा देहरादून में वस्तुस्थिति की समीक्षा एवं जोशीमठ प्रभावित क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी तथा गढ़वाल आयुक्त एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा जोशीमठ क्षेत्र में कैम्प किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने बताया कि विभिन्न केंद्रीय तकनीकी संस्थानों से विचार विमर्शोंपरान्त प्रारंभिक रूप से अवगत कराया गया है कि क्षेत्र में वृहद् पुनर्निर्माण की आवश्यकता होगी जिसका थ्पदंस म्ेजपउंजपवद तकनीकी परीक्षण समाप्त होने के उपरान्त प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने प्रभावित क्षेत्रों के लिये तात्कालिक राहत शिविरों की व्यवस्था, च्तमंिइतपबंजमक ज्तंदेपज ैीमसजमत, स्थायी पुनर्वास, नवीन स्थल विकास, आवास निर्माण, मूलभूत सुविधायें यथाः स्कूल, कालेज, कतंपदंहमए ेमूमतंहम आदि, जोशीमठ का पुर्ननिर्माण, विस्तृत तकनीकी जांच, भूस्खलन की रोकथाम, सम्पूर्ण जल निकासी व्यवस्था, शहर में सीवर लाईन की व्यवस्था, समस्त घरों का सीवर लाईन से जुड़ाव आदि मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिये मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री से केंद्रीय सहायता के लिये अनुरोध किया। केंद्रीय गृहमंत्री ने जोशीमठ के भूधंसाव क्षेत्र के प्रभावितों की आवश्यक मदद का आश्वासन मुख्यमंत्री को दिया।

Check Also

गणतंत्र दिवस: मुख्यमंत्री ने ‘गणतंत्र नमन’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग एवं चित्र प्रदर्शनी का किया शुभारम्भ

देहरादून (सूoवि0) । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर रेंजर्स ग्राउण्ड …