Breaking News

गुजरात मॉडल की तर्ज होगा मुनिकीरेती का विकासः रोशन रतूड़ी

 -जल भराव की समस्या से निजात के लिए वाटर हार्वेस्टिंग का करेंगे प्रयोग

ऋषिकेश। नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला क्षेत्र में होने वाले जलभराव की समस्या से क्षेत्रवासियों को जल्द निजात मिलेगी, गुजरात मॉडल की तर्ज पर यहां वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से काम होगा। पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने शुक्रवार को बोड बैठक में यह जानकारी दी।
पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने बताया कि निकाय क्षेत्र में अधिकांश गलियों का निर्माण पूरा हो चुका है। आनन्द विहार से राजीव ग्राम पंचायत घर तक बंदा मार्ग और बहुगुणा मार्ग ढालवाला का कार्य शीघ्र ही शुरू होना है। इसके अलावा जानकी झूला के समीप प्रियदर्शनी पार्क के बाहर दुकानों का निर्माण किया जाएगा, जिससे पालिका की आय में बढ़ोत्तरी होगी। क्षेत्रवासियों को जगह-जगह जलभराव की समस्या से जल्द निजात दिलाने के लिए वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के तहत कार्य किए जाएंगे।
मौके पर ईओ तनवीर सिंह मारवाह, सभासद मीनू, सुभाष चौहान, धर्म सिंह, मनोज बिष्ट, गजेंद्र सिंह सजवाण, बिरेन्द्र सिंह चौहान, सुषमा नेगी, विनोद सकलानी, वंदना थलवाल, कर एवं राजस्व निरीक्षक अनुराधा गोयल, जेई रूपेश भट्ट, लेखालिपिक विवेक भंडारी, सूरज पुंडीर, प्रकाश अवस्थी, विकास सेमवाल आदि उपस्थित थे।

गलियों को मिलेंगे नंबर बनेंगे सेक्टर

नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला को सेक्टर के अनुरूप बांटा जाएगा, जिसके अन्तर्गत यहां प्रत्येक गलियों को नंबर दिया जाएंगे। पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने बताया कि शीघ्र ही गलियों के बाहर बोर्ड लगाने का कार्य शुरू होगा।
—-
सभासद ने जताई नाराजगी, सामूहिक इस्तीफे की दी धमकी
नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला के सभासद विरेंद्र चौहान ने बोर्ड बैठक में अवस्थापना विकास निधि न मिलने पर नाराजगी जताई, धनराशि न मिलने पर उन्होंने सामूहिक इस्तीफे की धमकी दे डाली। जिसके बाद पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने मामला शांत करते हुए बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में मुनिकीरेती पालिका तीन बार अव्वल आ चुका है, राज्य सरकार द्वारा अब तक केवल १५ लाख रूपए ही दिए गए हैैं।

बकाएदारों को नहीं मिलेगा कोई भी प्रमाण पत्र, होगा मुकदमा
नगर पालिका की बोर्ड बैठक में बकाएदारों को कोई भी प्रमाण न देने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने बताया कि बोर्ड बैठक में बकाएदारों को निकाय द्वारा कोई भी प्रमाण पत्र और सुविधा नहीं देने व मुकदमा दर्ज करने का निर्णय लिया गया है।
—-
व्यवसायिक शुल्क में होगी बढोत्तरी
पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने बताया कि निकाय क्षेत्रान्तर्गत आने वाले इंडस्ट्रियों, सोसाइटी के फ्लैट्स आदि में बढ़ोत्तरी की गई है, जो पहले से बढ़ाकर ५० रूपए स्कवायर फीट की गई है।

Check Also

परमार्थ निकेतन निशुल्क मोतियाबिंद का हुआ शुभारंभ

-स्वामी शुकदेवानन्द हाॅस्पिटल में 5 से 15 नवम्बर, 2022 -अमेरिका, आस्ट्रेलिया, भारत और नेपाल के …