ड्रोन महोत्सव भारत ने जगाया नया उत्साह

ड्रोन महोत्सव बदल देगा भारत की तस्वीर
-वीरेन्द्र देव गौड़, पत्रकार, देहरादून
बीते कल दिल्ली मेें ड्रोन महोत्सव ने भारत के लोगों में नई उम्मीदें जगा दीं। मोदी के नए भारत की झलकियाँ दिखा दीं। कुछ महीने बाद भारत की तस्वीर बदल जाएगी। अब ड्रोन भारतीय किसानों की सेवा में आने वाला है। ड्रोन से भारतीय किसानी वैज्ञानिक हो जाएगी। ड्रोन से कीटनाशक दवाईयों का छिड़काव किया जाएगा। ड्रोन से होने वाला छिड़काव किफायती होने के साथ-साथ कम से कम समय में असरदार छिड़काव करेगा। ड्रोन से बीज की बुआई भी की जा सकेगी। ड्रोन से किसानों को कई लाभ होंगे। इसी तरह ड्रोन छोटी हवाई टैक्सियों की तरह भी काम करेंगेे। जाम से होने वाली देरी और परेशानी अब दूर होगी। ड्रोननुमा टैक्सियों से हवा मार्ग तय करते हुए मंजिल तक पहुँचा जा सकेगा। बीमारों के लिए यह टैक्सी बहुत फायदेमंद साबित होगी। ड्रोन से दफ्तर भी जाया सकेगा। समय कम हो या समय बचाना हो तो ड्रोन टैक्सियाँ सेवा के लिए उपलब्ध रहेंगी। ड्रोन टैक्सियों को खरीदा भी जा सकेगा। बस या कार की तरह किराया देकर इनमें सफर भी किया जा सकेगा। बदलते भारत की तस्वीर खुशनुमा होने वाली है। बड़ी संख्या में नए-नए स्टार्ट अप शुरू होने जा रहे हैं। आने वाले एक साल में पाँच से छह लाख नौजवानों को रोजगार मिलने वाला है। रोजगार की यह रफ्तार तेज होती चली जाएगी। भारत सरकार का उड्डयन मंत्रालय इच्छुक लोगों को प्रशिक्षित करने का जिम्मा लेगा। बाद में इस जिम्मेदारी का प्रचार-प्रसार होगा। इस तरह ड्रोन के इस्तेमाल के लिए भी नए-नए प्रशिक्षण संस्थान खुलेंगे। रोजगार की भरमार होगी। विपक्षियों के मुँह फिर भी बंद नहीं होंगे। विपक्षी ड्रोन की दुनिया में भारत के द्वारा होने वाले चमत्कार को भी काले रंग से पोत देंगे। उन्हें हर हाल में मोदी का विरोध करना है। वे मोदी विरोध में बहुत अधिक प्रशिक्षित हो चुके हैं। वे काले को सफेद और सफेद को हरा सिद्ध कर देते हैं। परन्तु 2024 केे लोकसभा चुनाव में लोग इन विपक्षियों को करारा सबक सिखाएंगे। उसके बाद भी ये बाज नहीं आएंगे। बहरहाल, मोदी सरकार नौ जवानों को स्टार्ट अप शुरू करने के लिए उत्साहित कर रही है। लगातार वातावरण को अनुकूल बना रही है। इसमें दो राय नहीं कि कैसी भी और कोई भी विपत्ति आए भारत प्रगति के पथ पर अग्रसर रहेगा। क्योंकि भारत के पास राष्ट्रीय स्तर पर एक ऐसा नेतृत्व है जिसके पास विरोध के लिए समय नहीं और काम के लिए समय ही समय है। आने वाले चार सालों में परिवहन के क्षेत्र में भारत संसार में अपना अहम् स्थान बनाने जा रहा है। जिसके लिए मोदी सरकार को साधुवाद दिया जाना चाहिए।

Check Also

सड़कें

सुधरती सड़कें बदलती तस्वीर

-नेशनल वार्ता ब्यूरो- अब शहरों को जोड़ने वाली सड़कें बेहतरीन हो रही हैं। शहरों के …