Breaking News
prem

फिल्में, समाज का दर्पण है -राज्यपाल

prem

देहरादून (सू0वि0) । राज्यपाल Dr. K.K. Paul ने कहा है कि फिल्में, समाज का दर्पण होती हैं। शाॅर्ट फिल्मों के माध्यम से क्रियेटीवीटी को प्रोत्साहन मिलने के साथ ही नए टेलेंट को भी मौका मिल रहा है। #Uttarakhand में फिल्म शूटिंग के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करते हुए सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवानी होगी। राज्यपाल, #Dehradun इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल के समापन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। तीन दिवसीय देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल के समापन समारोह में बोलते हुए राज्यपाल ने कहा कि फिल्में, समाज का दर्पण होती हैं। फिल्मों की विषयवस्तु समसामयिक समाज को ही प्रदर्शित करती हैं। आजादी के समय व उसके बाद भारत में विभिन्न कारणों से समाजवाद को प्रचारित करने वाली फिल्में बड़ी संख्या में बनीं। उस समय फिल्में लम्बी होती थीं और उनमें सामाजिक मुद्दों को प्रमुखता दी जाती थी। अब नई तकनीक व कम्प्यूटर के बढ़ते प्रयोग के साथ फिल्मों में भी परिवर्तन स्पष्ट तौर पर दिखाई देता है।

Raza Murad

फिल्मों की अवधि कम होती जा रही है। शाॅर्ट फिल्में, सिनेमा जगत में अपना प्रमुख स्थान बनाती जा रही हैं। शाॅर्ट फिल्मों के माध्यम से क्रियेटीवीटी को प्रोत्साहन मिलने के साथ ही नए टेलेंट को भी मौका मिल रहा है। शाॅर्ट फिल्मों से उत्तराखण्ड के वाईल्ड लाईफ, आकर्षक प्राकृतिक स्थलों व पर्यावरण को प्रचारित करने के साथ ही स्थानीय युवाओं की प्रतिभा को भी प्रोमोट किया सकता है। राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड को ईश्वर ने अद्वितीय प्राकृतिक सुन्दरता से नवाजा है। यहां के सुरम्य स्थान फिल्म निर्माण के लिए एक सौगात हो सकते हैं। फिल्म निर्माता, अपनी फिल्मों की शूटिंग के लिए स्वीट्जरलैंड आदि देशों में जाते हैं, जहां उनका बहुत अधिक खर्चा भी होता है। उत्तराखण्ड में ऐसी लोकेशन बहुत हैं। फिल्मों की शूटिंग के लिए उत्तराखण्ड बहुत ही सही जगह है। राज्य सरकार ने फिल्म पाॅलिसी बनाई है। परंतु उत्तराखण्ड में फिल्म शूटिंग के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करते हुए सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवानी होगी। सरकार के प्रयासों में अनुभवी प्राईवेट सेक्टर का सहयोग भी जरूरी है। देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल, फिल्म निर्माताओं व निर्देशकों को इस पर्वतीय प्रदेश में लाता है और उन्हें यहां की सम्भावनाओं से अवगत कराता है।

governor

प्रति वर्ष होने वाले इस फेस्टीवल से निस्संदेह यहां के पर्यटन को भी बढ़ावा मिल रहा है। राज्यपाल ने सफल आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई देते हुए आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में उत्तराखण्ड को फिल्म निर्माण के डेस्टीनेशन के तौर पर उभारने में यह फेस्टीवल सफल रहेगा। फेस्टीवल में भारतीय सिनेमा जगत की महान हस्तियों श्री प्रेम चोपड़ा, श्री रजा मुराद, श्री सुभाष घई, श्री सागर सरहदी के आने से यहां की युवा प्रतिभाओं को प्रेरणा मिली है।

Check Also

बेटियाँ है तो सृष्टि है-स्वामी चिदानन्द सरस्वती

ऋषिकेश (दीपक राणा )। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर परमार्थ निकेतन में विभिन्न गतिविधियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published.