Breaking News

कानपुर में इत्र कारोबारी के घर पर पड़ा आयकर छापा, पकड़ी गई 160 करोड़ की नगदी

कानपुर (नेशनल वार्ता ब्यूरो)। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड़ के इतिहास में कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के यहां से अब तक 150 करोड़ रुपये से ज्यादा नकदी की बरामदगी कीर्तिमान बन गई है। हालांकि एक अधकारी ने बताया कि यह रकम करीब 160 करोड़ रुपये है। इससे पहले कभी इतनी नकदी किसी छापे में नहीं मिली। बुधवार शाम तीन बजे से शुरू हुई कार्रवाई शुक्रवार देर रात तक जारी थी। रात 11 बजे तक कुल 42 बक्सों में रकम भरकर रिजर्व बैंक भेजी गई है। माना जा रहा है कि इतनी बड़ी रकम अकेले पीयूष जैन की नहीं हो सकती। इसमें कई लोगों का पैसा शामिल हो सकता है। पीयूष का घर पैसे रखने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था। उधर, पीयूष जैन के दो बेटों को हिरासत में लेकर कन्नौज ले जाया गया और उनके घर में पड़ताल जारी थी। यहां भी लगभग चार करोड़ रुपये नकद और एक करोड़ कीमत के जेवर मिलने की सूचना है। कुछ लाकर भी मिले हैं। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार अभी सिर्फ दो कमरे खोले गए हैं। कई कमरे खोले जाने बाकी हैं। कार्रवाई की कड़ी में शुक्रवार को कन्नौज में इत्र कारोबारी संदीप उर्फ रानू मिश्रा के यहां भी छापेमारी की गई। महानिदेशालय जीएसटी इंटेलीजेंस की टीम ने हाल ही में गुजरात में पान मसाला लदे चार ट्रक पकड़े थे। ये ट्रक कानपुर के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित गणपति रोड कैरियर ट्रांसपोर्ट कंपनी के हैं। ट्रक में माल की इनवाइस फर्जी थी। इसके साथ ही ई-वे बिल भी जारी नहीं किया गया था। जांच में सामने आया कि ट्रक में लदा शिखर पान मसाला कानपुर में ट्रांसपोर्ट नगर स्थित त्रिमूर्ति फ्रेगरेंस प्राइवेट लिमिटेड का है।
पता चला कि गणपति रोड कैरियर के मालिक प्रवीण कानपुर के आनंदपुरी में रहते हैं। इसके बाद टीम ने उनके आवास पर छापा मारा। ट्रांसपोर्टर प्रवीण जैन के घर से 45 लाख और ऑफिस से 56 लाख रुपये की नकदी मिली। उनसे 3.09 करोड़ टैक्स और जुर्माना जमा कराया गया है। यहां पता चला कि मूलरूप से कन्नौज और वर्तमान में आनंदपुरी निवासी इत्र कारोबारी पीयूष जैन शिखर पान मसाला के लिए अपना एसेंस (इत्र या अर्क) देते हैं। इस पर पीयूष के यहां छापा मारा गया। वहां नोटों की गडिड्यां निकलने लगीं तो आयकर विभाग को जानकारी देने के साथ स्टेट बैंक से नोट गिनने की मशीनें, बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों को बुलाया गया।

Check Also

राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विकास एवं जनता से जुड़े मुद्दों पर रखी अपनी बात

2025 तक उत्तराखण्ड शामिल होगा देश के अग्रणी राज्यों में। मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *