Breaking News
chhath

व्रती महिलाओं ने गंगा के पानी में खड़ी होकर भगवान सूर्य की पूजा की

छठ पूजा व्रत को दुनिया का सबसे कठ‍िन व्रत कहा जाता है।

chhath

२४ अक्टूबर को नहाय खाय के साथ सूर्य देव की उपासना का पर्व छठ शुरू हो चुका है। ये पर्व सप्तमी को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही समाप्त होगा। इस पर्व में भगवान सूर्य की पूजा का काफी महत्व है।  चार दिन तक चलने वाले इस त्योहार में भगवान सूर्य की आराधना की जाती हैं। आज व्रतियों ने जल में उतरकर डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया है।  महिलाओं ने सिर पर बांस की टोकरी, सुप में फल, खजूर आदि लाएं और सूर्य, छठ माता को प्रसाद चढ़ाया गया। अब कल सुबह उगते सूरज को अर्घ्य देने के साथ यह महापर्व संपन्न होगा।

nitish kumar nwn

नीतीश कुमार ने अस्ताचलगामी सूर्य को दिया अर्घ्य

ये है छठ पूजा तिथि
नहाय.खाय. 24 अक्टूबर
खरना. 25 अक्टूबर
डूबते सूर्य को अर्घ्य. 26 अक्टूबर
उगते सूर्य को अर्घ्य. 27अक्टूबर

छठ पूजा 2017 : मुहूर्त समय
छठ पूजा के दिन इस समय होगा सूर्यादय – 06:41 बजे सुबह
छठ पूजा के दिन इस वक्त होगा सूर्यास्त- 06:05 बजे शाम

Check Also

बेटियाँ है तो सृष्टि है-स्वामी चिदानन्द सरस्वती

ऋषिकेश (दीपक राणा )। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर परमार्थ निकेतन में विभिन्न गतिविधियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published.