युवा जीवन में अपने लक्ष्य निर्धारित करें : गवर्नर

रायपुर (जनसंपर्क विभाग)। युवा अपना लक्ष्य निर्धारित करें और लक्ष्य प्राप्त करने के लिए कठिन परिश्रम का संकल्प लें। इसी संकल्प से आप सफल होंगे और राष्ट्र के विकास में अपना योगदान दे पाएंगे। उक्त उद्गार राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने आज भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम, रायपुर में आयोजित युवा उत्सव कार्यक्रम में व्यक्त किए। भारतीय उद्योग परिसंघ के रायपुर वाय.आई. चेप्टर द्वारा युवा उत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें देश एवं प्रदेश के प्रमुख उद्यमी/उद्योगपति, विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों के युवा विद्यार्थी शामिल हुए। इस दौरान राज्यपाल  उइके ने भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा विभिन्न मानकों के आधार पर चयनित किए गए औद्योगिक ईकाईयों तथा परिसंघ के विशिष्ट सदस्यों को पुरस्कार प्रदान किए। राज्यपाल उइके ने उपस्थित युवा विद्यार्थियों से कहा कि आपको अपने जीवन का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए कठिन परिश्रम का संकल्प लेना होगा। तभी आप अपना लक्ष्य प्राप्त कर देश निर्माण में अपनी भूमिका निभा पाएंगे। राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि बतौर कुलाधिपति मैंने युवाओं के कैरियर मार्गदर्शन तथा काउंसलिंग के लिए विश्वविद्यालयों को निर्देशित भी किया है, ताकि युवा अपनी रूचि के अनुरूप अपना क्षेत्र का चुनाव कर पाएं। राज्यपाल ने आगे कहा कि भारत की विकास यात्रा में भारतीय उद्योग परिसंघ पिछले १२५ वर्षों से जुटा हुआ है। एक संस्थान के लिए यह अत्यंत गौरव की बात है। परिसंघ राष्ट्र के विकास में भारतीय उद्योगों की सक्रियता और योगदान को बढ़ाने और उन्हें जोड़ने का कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि नीतिगत मुद्दों पर भी उद्योग परिसंघ सरकार के साथ मिलकर काम करता है और इन मुद्दों पर संवाद के माध्यम से आम सहमति बनाने के लिए मंच प्रदान करता है। राज्यपाल  उइके ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत की जो संकल्पना की है, उसे पूरा करने में भारत के युवा उद्यमियों की बड़ी भूमिका होगी। इसी आशय से शुरू की गई स्टार्टअप इंडिया तथा मुद्रा लोन जैसी योजनाएं उद्यमियों को प्रोत्साहित कर रही है। उन्होंने कहा कि यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि प्रदेश में परिसंघ की ईकाई वाय.आई. द्वारा राष्ट्र निर्माण के उद्देश्य से अनेकों महत्वपूर्ण विषयों जैसे जलवायु परिवर्तन, अंगदान, सड़क सुरक्षा, प्रोजेक्ट मासूम (बच्चों को सुरक्षित रखना), युवा उद्यमिता शिखर सम्मेलन आदि आयोजित किये जा रहे हैं। वास्तव में ये सभी विषय, वर्तमान आवश्यकताओं के अनुरूप हैं और इससे समाज में जागरूकता आयेगी। कार्यक्रम के अंत में उन्होंने युवाओं को अपने अनुभवों से सीख देते हुए कहा कि असफलता से निराश होकर हमें रूकना नहीं चाहिए। हमारा आत्मविश्वास ही हमें जीवन में सदैव आगे बढ़ने की प्रेरणा देगा।
इस अवसर पर भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा राज्यपाल उइके को शाल और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में भारतीय उद्योग परिसंघ के  उमेश चितलांगिया,  सिद्धार्थ अग्रवाल,  आदित्य मुंदड़ा,  सतीश पाण्डेय तथा शहर के प्रतिष्ठित उद्योगपति और बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के विद्यार्थी उपस्थित थे।

 

Check Also

किसानों, वनवासियों और श्रमिकों की जेब में पैसा आने का असर छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था पर दिख रहा है: मुख्यमंत्री

-मुख्यमंत्री भिलाई में अग्रसेन जयंती के कार्यक्रम में हुए शामिल रायपुर (जनसंपर्क विभाग)। मुख्यमंत्री  भूपेश …