Breaking News
floodnwn

बाढ़ का तांडव- अब तक 101 लोगों की मौत

floodnwn

लखनऊ (नेशनल वार्ता संवाददाता)। उत्तर प्रदेश में बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है और सैलाब के कारण अब तक करीब एक अरब रुपये की फसल नष्ट हो चुकी है। राहत आयुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के बाढग़्रस्त जिलों में पिछले 24 घंटे के दौरान पांच और लोगों की मौत के साथ बाढज़नित हादसों में मरने वालों की तादाद बढ़कर 101 हो गयी है। बाढ़ से ढाई लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में लगी फसल डूब गयी है और किसानों को अब तक 96 करोड़ 58 लाख 84 हजार रुपये का नुकसान हो चुका है। चूंकि अभी नुकसान के आकलन का काम जारी है, लिहाजा यह आंकड़ा और बढऩे की आशंका है। प्रदेश के 24 जिलों में करीब 27 लाख लोग अब भी बाढ़ से प्रभावित हैं। प्रभावित इलाकों में 675 बाढ़ चौकियां स्थापित की गयी हैं। इसके अलावा 341 राहत शिविरों और 252 राहत वितरण केन्द्रों की स्थापना की गयी है। अब तक लगभग एक लाख 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। वहीं, करीब 60 हजार लोग राहत शिविरों में शरण लिये हुए हैं।गोरखपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार जिले में बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में अब संक््रुामक बीमारियां फैल रही हैं। इनकी रोकथाम के लिये जिले के स्वास्थ्य विभाग ने 89 टीमों का गठन किया है।  मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर रवीन्द्र कुमार ने बताया कि बाढ़ से पूरी तरह डूबे इलाकों में दो-तीन सदस्यो की पैरा मेडिकल टीम इन क्षेत्रों मे मरीजों को दवा आदि का वितरण कर रही हैं। इसके अलावा 11 स्टैटिक मेडिकल वैन के माध्यम से लोगों की चिकित्सकीय जांच और निदान किया जा रहा है। इसके अलावा 16 हैल्थ कैम्प लगाए गए हैं, जहां बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रोगियों के इलाज की व्यवस्था की गई है। इस बीच, केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार घाघरा नदी एल्गिनब्रिज :बाराबंकी:, अयोध्या :फैजाबाद: और तुर्तीपार :बलिया: में खतरे के निशान से उुपर बह रही है। हालांकि राप्ती नदी का जलस्तर घट रहा है लेकिन यह अब भी रिगौली :गोरखपुर: और बर्डघाट :गोरखपुर: में लाल चिन से उुपर बना हुआ है। बूढ़ी राप्ती नदी ककरही :सिद्धार्थनगर: और उस्काबाजार :सिद्धार्थनगर: जबकि ानो नदी चंद्रदीपघाट :गोण्डा: में और शारदा नदी पलियाकलां :खीरी: में लाल निशान से उुपर बह रही है।

Check Also

मुर्तजा का जिहादी ताण्डव

गौरक्षधाम मठ को जिहादियों की चुनौती नेशनल वार्ता ब्यूरो योगी की प्रचण्ड जीत से भन्नाए …

Leave a Reply

Your email address will not be published.