योगी सरकार ने विधानसभा में हंगामे के बीच में पेश किया 8 हजार 479 करोड़ का अनुपूरक बजट

नई दिल्ली (नेशनल वार्ता ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को अब ज्यादा समय नहीं बचा है। सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी पूरी ताकत झोंक रही हैं। हर कोई जनता को लुभाने में लगा हुआ है। इसी बीच गुरुवार को योगी सरकार ने विधानसभा में अनुपूरक बजट (सप्लीमेंट्री बजट) पेश किया। ये बजट 8 हजार 479 करोड़ रुपये का है। सरकार ने इस बजट में 24 घंटे बिजली देने का वादा किया है। प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि इसके लिए पावर कॉरपोरेशन को 1000 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सदन में 8 हजार 479 करोड़ रुपये का बजट व वर्ष 2022-23 के एक भाग के लिए लेखानुदान प्रस्तुत किया। योगी सरकार ने इस बजट में किसानों और युवाओं पर खास फोकस किया है। वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने अपने भाषण में कहा कि 2022-23 में ५,४४,८३६.५६ करोड़ रुपये की प्राप्तियां होंगी, जिसमें ४,५३,०९७.५६ करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्तियां, ९१,७३९ करोड़ रुपये की पूंजी लेखे की प्राप्तियां, जिसमें ८९,१७४ करोड़ रुपये की लोक ऋणों से प्राप्तियां और २,५६५ करोड़ रुपये की ऋणों और अग्रिमों की वसूली से होने वाली प्राप्तियां सम्मिलित हैं।
सरकार ने वित्तीय वर्ष २०२२-२३ के पहले चार महीनों (अप्रैल से जुलाई) के लिए १,६८,९०३.२३ करोड़ रुपये का लेखानुदान भी विधानसभा में प्रस्तुत किया। दूसरे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे को लेकर जमकर हंगामा किया, जिसके कारण सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया। कार्यवाही के दौरान सपा, कांग्रेस और सुभासपा ने मंहगाई और केंद्रीय मंत्री राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर विधानसभा में अध्यक्ष के सामने वेल में प्रदर्शन किया।

इस दौरान प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने वित्तीय वर्ष २०२१-२२ का दूसरा अनुपूरक बजट और वर्ष २०२२-२३ के एक भाग के लिए लेखानुदान प्रस्तुत किया।

विधानसभा में आज विधान सभा की कार्यवाही शुरू होते ही समाजवादी पार्टी व कांग्रेस के सदस्य लखीमपुर खीरी केस की एसआइटी जांच रिपोर्ट पर चर्चा कराने और गृह राज्यमंत्री टेनी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर वेल में आकर नारेबाजी हंगामा करने लगे। इनके हंगामे के बीच ही संसदीय कार्य व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने द्वितीय अनुपूरक बजट, अगले वित्तीय वर्ष २०२२-२३ के एक भाग के लिए लेखानुदान पेश किया।
इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर कैबिनेट बैठक के बाद इस बजट को मंजूरी प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सम्पन्न कैबिनेट की अहम बैठक में अनुपूरक बजट के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की।

Check Also

अमृत

अमृत महोत्सव की धूम

-नेशनल वार्ता ब्यूरो- देश में अमृत महोत्सव की धूम है। उत्तराखण्ड भी अमृत महोत्सव की …

Leave a Reply

Your email address will not be published.