योगी जी की महायोजना

योगी जी की महायोजना लखनऊ और लखनऊ से जुडे लगभग 7 जनपदों का कायाकल्प करने जा रहे हैं। योगी जी की यह महायोजना इस बात का प्रमाण है कि वे एक दूरदर्शी राजनेता है जो राष्ट्र के कल्याण के लिए पल-पल समर्पित हैं। इस महायोजना के तहत कानपुर, कानपुर देहात, रायबरेली, सीतापुर सहित लखनऊ के आसपास के कुल सात जनपदीय क्षेत्र तेज विकास से जुड़ेंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इस महायोजना की तैयारियाँ शुरू कर दी हैं। संभवतः चार महीने में यह महायोजना कागज पर अंतिम रूप ले लेगी। इस महायोजना के पीछे योगी जी की दूर की सोच है। वे चाहते हैं कि लखनऊ सहित इस पूरे क्षेत्र का योजनाबद्ध तरीके से विकास हो। ताकि प्रस्तावित विकास पर्यावरण को साथ लेकर सम्पन्न हो। इसके अलावा लखनऊ और लखनऊ के आसपास तेजी से बढ़ रही आबादी पर्यावरण सन्तुलन के लिए विनाशकारी सिद्ध हो सकती है। इसलिए महायोजना के अनुसार जो भी विकास कार्य होंगे वे क्षेत्र के पर्यावरण को कम से कम नुकसान पहुँचाएंगे और भारी वर्षा या किसी और प्राकृतिक आपदा की हालत में राहत कार्य सुचारू रूप से किए जा सकेंगे। क्षेत्र के लोगों का भी विकास होगा क्योंकि प्रस्तावित महायोजना रोजगार के ढे़रों अवसर लेकर आएगी। पूरे क्षेत्र में कृषि जमीन के उपयोग का भी सदुपयोग किया जा सकेगा। व्यवस्थित रूप से सारे काम होंगे। सबसे बड़ी बात यह है कि विकास के बड़े-बड़े काम जैसे कि बड़ी-बड़ी सड़कें, बड़े-बड़े पुल, बड़े-बड़े भवन, सार्वजनिक भवन और बड़े-बड़े औद्योगिक केन्द्र सुचारू रूप से स्थापित किए जा सकेंगे। सरकारी कार्यालयों को अच्छी तरह से निर्मित किया जा सकेगा। इसलिए ऐसी महायोजना पूरे क्षेत्र के लिए वरदान सिद्ध होने वाली है। मैं तो उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री से निवेदन करता हूँ कि इसी तर्ज पर पूरे देहरादून जनपद का ब्लूप्रिंट तैयार किया जाना चाहिए। ताकि आने वाले कम से कम 50 सालों तक पूरे देहरादून जनपद और देहरादून नगर के बीच संतुलित समन्वय बना रहे और पूरा जनपद तेजी से विकास करे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नौ जवान दिमाग में यह योजना आनी चाहिए। इसका सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि पूरा देहरादून जनपद पर्यावरण को साधते हुए विकास कर पाएगा। अनाप शनाप तरीके से होना वाला विकास किसी भी क्षेत्र का विनाश कर देता है। हमें प्रधानमंत्री नरेद्र दामोदर दास मोदी और रामकृष्ण प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी से प्रेरणा लेनी चाहिए। तभी देश का भला होगा।

Check Also

अमृत

अमृत महोत्सव की धूम

-नेशनल वार्ता ब्यूरो- देश में अमृत महोत्सव की धूम है। उत्तराखण्ड भी अमृत महोत्सव की …