Breaking News
धान खरीदने

उत्तराखंड: प्रदेश में अक्टूबरसे धान खरीदने शुरू होगी, पहाड़ों में भी केंद्र बनाए जाएंगे

राज्य में मोटे धान खरीदने के लिए पहली बार पहाड़ी इलाकों में क्रय केंद्र बनाए जाएंगे। वहीं, 2023-24 का खरीफ-खरीद सत्र अक्तूबर से 31 दिसंबर तक चलेगा। पहले समय 31 जनवरी तक था।

उत्तराखंड में 1 अक्तूबर से 31 दिसंबर तक धान की खरीद की जाएगी। 8.96 लाख मीट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य इस बार रखा गया है। साथ ही चावल का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल 2183 रुपये है।

राज्य में मोटे धान खरीदने के लिए पहली बार पहाड़ी इलाकों में क्रय केंद्र बनाए जाएंगे। प्रदेश की खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रेखा आर्या ने इस विषय पर विधानसभा में अधिकारियों से मुलाकात की। उनका कहना था कि 2023-24 का खरीफ-खरीद सत्र अक्तूबर से 31 दिसंबर तक चलेगा। पहले समय 31 जनवरी तक था।

मंत्री ने कहा कि मंडुवा उत्पादन का लक्ष्य 1.26 लाख मीट्रिक टन था, साथ ही न्यूनतम समर्थन मूल्य 3,846 रुपये प्रति क्विंटल था। मंत्री आर्या ने कहा कि सहकारिता, एफसीआई, यूपीसीयू और यूसीसीएफ जैसे कई संगठनों से खरीद केंद्र खोले गए हैं। इन संस्थाओं को निर्देश दिया गया था कि किसानों को धान खरीदने में कोई परेशानी न हो।

कहा कि भुगतान नियमानुसार 72 घंटे के भीतर किया जाएगा। इसके अलावा, किसानों को खरीद केंद्रों तक अपनी फसल पहुंचाने में आसान बनाने के लिए बोरों की व्यवस्था के निर्देश भी दिए गए हैं। प्रमुख खाद्य सचिव एल फैनई, अपर सहकारिता सचिव अलोक पांडेय, अपर आयुक्त पीएस पांगती और मुख्य विपणन अधिकारी महेंद्र सिंह बैठक में उपस्थित थे।

Check Also

संस्कृति विभाग ने लोक सांस्कृतिक दलों एवं एकल लोक गायको को मचीय प्रदर्शन के आधार पर सूचीबद्ध

देहरादून (सू0वि0)। संस्कृति विभाग, उत्तराखंड द्वारा प्रदेश के लोक सांस्कृतिक दलों एवं एकल लोक गायको …