Breaking News
योगी

लखनऊ: CM योगी का कठोर आदेश: भारत सरकार के विचारों के खिलाफ जानकारी पर कार्रवाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कमिश्नर और डीएम को नामांतरण, वरासत, पारिवारिक बंटवारे और पैमाइश के मामलों में लापरवाही का दोष देना होगा। तहसीलवार प्रदर्शन की रिपोर्ट जारी करते हुए, उन्होंने कहा कि “तारीख पर तारीख” की प्रवृत्ति कतई स्वीकार नहीं की जाएगी। मंडलायुक्त और डीएम भी जवाबदेह होंगे अगर लेखपाल, राजस्व निरीक्षक आदि पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं बरेली में छात्रा से छेड़छाड़ की घटना पर उन्होंने शोहदों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

गुरुवार को मुख्यमंत्री एक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी त्योहारों की तैयारियों और कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान, उन्होंने शारदीय नवरात्रि के दौरान प्रमुख देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा के लिए किए गए प्रबंधों का विस्तार से विश्लेषण किया। उसने बताया कि शारदीय नवरात्रि पर मिशन शक्ति अभियान का चौथा चरण शुरू होने जा रहा है, जिसे सफल बनाने के लिए आप सभी की जिम्मेदारी है। आगामी महीने में त्योहारों का बहुत महत्व है। बीट सिपाही से लेकर पुलिस कप्तान और हल्का इंचार्ज तक सभी अधिकारी सड़क पर उतरे। माहौल बिगाड़ने की कोशिश कुछ अवांछित पक्ष कर सकते हैं। पुलिस अलर्ट रहना चाहिए। त्योहार पर अश्लील गीतों और कानफोड़ू डीजे संगीत भी समस्या है।

इस्राईल-फलस्तीन विवाद भी

मुख्यमंत्री ने इस्राइल-फलस्तीन संघर्ष के बारे में कहा कि सभी पुलिस कप्तान अपने क्षेत्र में धर्मगुरुओं से तुरंत संपर्क करें। भारत सरकार के विचारों के विपरीत इस मामले में कोई भी गतिविधि स्वीकार नहीं की जाएगी। किसी भी प्रकार का उन्मादी बयान, चाहे वह सोशल मीडिया पर हो या धर्मस्थल पर हो, प्रसारित नहीं होना चाहिए। तुरंत कार्रवाई की जाए अगर कोई ऐसा करने की कुत्सित कोशिश करता है।

सिफारिश पर नहीं दें  तैनाती

उन्होंने सभी डीएम और पुलिस कप्तानों को बताया कि तैनाती सिर्फ मेरिट पर होनी चाहिए। यदि किसी को सिफारिश या किसी के दबाव में क्षेत्र पोस्ट किया गया है, तो इसे गंभीरता से लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आईजीआरएस में प्रदर्शन की रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि अधिकारी जनता के लिए तैनात हैं, इसलिए उनसे मिलना और उनकी समस्याओं का समाधान करना सबसे महत्वपूर्ण होना चाहिए। यदि कोई अधिकारी या कर्मचारी ऐसा करने में असमर्थ है, तो उसे तुरंत पद से हटाना चाहिए।
खराब और अच्छी तहसीलें

 

Check Also

उत्तराखंड: सीएम धामी ने समान नागरिक संहिता विधान सभा से पास होने पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

देहरादून (सू0वि0)। मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता विधान सभा सदन …