Breaking News

सीएम ने गांधी ग्राम में रागी प्रसंस्करण केंद्र और बकरी पालन इकाई का किया अवलोकन

रायपुर (जनसम्पर्क विभाग)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने कांकेर प्रवास के चौथे और अंतिम दिन जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर कुलगांव में बनाए गए गांधी ग्राम के लोकार्पण के बाद वहां रागी प्रसंस्करण केंद्र और प्रशिक्षण केंद्र-सह-बकरी पालन इकाई का अवलोकन किया।समूह की महिलाओं से चर्चा कर उनके कार्यों की जानकारी ली उन्होंने वहां स्वसहायता समूहों की महिलाओं से चर्चा कर उनके कार्यों के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने महिला समूहों द्वारा तैयार रागी आटा और कोदो चावल की गाड़ी को हरी झंडी दिखाकर आंगनबाड़ियों में आपूर्ति के लिए रवाना किया। उन्होंने मछली आहार की गाड़ी को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। गांधी ग्राम में कुलगांव की पूजा स्वसहायता समूह द्वारा रागी (मड़िया) प्रसंस्करण केंद्र का संचालन किया जा रहा है।  कांकेर प्रवाससमूह की महिलाएं अब तक 40 क्विंटल रागी आटा बेचकर 20 हजार रुपए का मुनाफा कमा चुकी हैं। स्थानीय आंगनबाड़ियों में समूह द्वारा तैयार रागी आटा की आपूर्ति की जा रही है। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत पोषण से भरपूर रागी आटा का हलवा बनाकर बच्चों को खिलाया जा रहा है। गांधी ग्राम में कुलगांव की ही मां भवानी स्वसहायता समूह द्वारा प्रशिक्षण केन्द्र-सह-बकरी पालन इकाई का संचालन किया जा रहा है। समूह की महिलाओं के पास अभी जमुनापारी नस्ल की 27 बकरे- बकरियां हैं। पशुधन विकास विभाग द्वारा शुरुआत में महिलाओं को 20 बकरियां और दो बकरे उपलब्ध कराए गए थे। कुछ महीनों बाद समूह द्वारा इनकी बिक्री शुरू की जाएगी। इस बकरी पालन इकाई से महिलाओं को सालाना साढ़े तीन लाख रुपए की आमदनी का अनुमान है।

Check Also

नवनियुक्त मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से प्रदेश भर से आए विभिन्न सामाजिक संगठनों ने की मुलाकात

-मुख्यमंत्री बनने पर दी बधाई और शुभकामनाएं रायपुर (जनसंपर्क विभाग) ।  छत्तीसगढ़ के नवनियुक्त मुख्यमंत्री …