Breaking News

up: 68 नए जिलाध्यक्षों को आंशिक बदलाव की अनुमति, सांसद-विधायक की मर्जी से नहीं, सलाह से मंडल अध्यक्ष बदलेंगे

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कहा कि सांसदों और विधायकों की मर्जी से जिलों में पार्टी के मंडल अध्यक्षों को बदलना चाहिए। चौधरी ने सोमवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में जिलाध्यक्षों और प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी पार्टी का नेतृत्व निर्धारित करेंगे।

पार्टी का कोई भी प्रत्याशी हो, जिलाध्यक्ष उसे जिताने में पूरी कोशिश करें। चौधरी ने दो टूक शब्दों में कहा कि सांसद मंडल अध्यक्षों की सूची नहीं दी जानी चाहिए; उन्हें घोषित करना चाहिए। स्थानीय सांसदों और विधायकों की सलाह से मंडल अध्यक्ष और जिला टीम को बदलना चाहिए।

हाल ही में नियुक्त हुए 98 में से 68 संगठनात्मक जिलों में भूपेंद्र चौधरी ने टीम में आंशिक बदलाव करने की अनुमति दी। साथ ही, दूसरी बार चुने गए 30 जिलाध्यक्षों को अपनी वर्तमान टीम से चुनाव कराना होगा।

उनका कहना था कि मौजूदा दल जून 2024 तक राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के पद पर रहेगा। उनका कहना था कि दिसंबर से जिलों में बड़े नेताओं के प्रवास और बैठकें शुरू होंगे। पार्टी को बूथ स्तर तक चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार रहना चाहिए।

Check Also

पांच साल हो गए, आपलोग हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं; भड़क उठे चंद्रचूड़

नई दिल्ली (संवाददाता) । देश के मुख्य न्यायाधीश   जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने दिव्यांग …