Breaking News

छत्तीसगढ़ के कई जनपद शीतलहर की चपेट में

रायपुर (नेशनल वार्ता ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ में उत्तर से आ रही ठंडी और सूखी हवा का असर महसूस होने लगा है। शनिवार रात प्रदेश के पश्चिम-उत्तर क्षेत्रों में मौसम की पहली शीतलहर दर्ज की गई। सरगुजा संभाग के जिलों और पेंड्रा रोड में रात का तापमान अचानक काफी नीचे गिर गया है। वहीं कोरिया में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। यह इस मौसम का सबसे कम तापमान है। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार रात को कोरिया कृषि विज्ञान केंद्र में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। वहीं पेंड्रा रोड में यह 6 डिग्री सेल्सियस रहा। पेंड्रा का न्यूनतम तापमान एक दिन पहले के तापमान से 6.6 डिग्री और वहां के सामान्य तापमान से 5 डिग्री कम है। अंबिकापुर में भी न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रहा है। यह एक दिन पहले के तापमान से 4.5 डिग्री सेल्सियस कम है। रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, किसी भी स्थान में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे पहुंच जाए और एक दिन पहले के न्यूनतम तापमान में 4.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक गिरावट हो तो शीतलहर की स्थिति बनती है। अम्बिकापुर, कोरिया, पेण्ड्रा रोड की स्थिति में शीतलहर शुरू हो चुकी है।
मध्य प्रदेश के अमरकंटक में भी रात अचानक से ठंडी हो गई है। शनिवार-रविवार को यहां न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। अमरकंटक से लगे छत्तीसगढ़ के कई गांवों में ओस की बूंदें जम गई हैं। रात को लोगों ने रोज की तुलना में अधिक सर्दी महसूस की है। राजधानी रायपुर में न्यूनतम तापमान अभी भी सामान्य से अधिक बना हुआ है। शनिवार-रविवार की रात यहां न्यूनतम तापमान १४.३ डिग्री सेल्सियस मापा गया। यह सामान्य से १.७ डिग्री सेल्सियस अधिक है। माना हवाई अड्‌डे पर १२.६ डिग्री सेल्सियस तापमान आंका गया। यह सामान्य है। लाभांडी में भी न्यूनतम तापमान १२.५ डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है।

Check Also

राज्य की समृद्ध लोक संस्कृति एवं परम्पराओं का संगम है युवा उत्सव : खेल मंत्री 

-राज्य स्तरीय युवा महोत्सव एवं लोक साहित्य महोत्सव का आगाज -युवा महोत्सव से मिल रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *