Breaking News
देहरादून: रात में जौलीग्रांट एयरपोर्ट परिसर में दो गोवंशों का शिकार, अथॉरिटी सतर्क

देहरादून: रात में जौलीग्रांट एयरपोर्ट परिसर में दो गोवंशों का शिकार, अथॉरिटी सतर्क

17 जुलाई को एयरपोर्ट पर गुलदार पहली बार देखा गया था। बाद में गुलदार अस्पताल परिसर के अंदर दिखाई दिया और उसके बाद से एयरपोर्ट और अस्पताल के सटे इलाकों में लगातार दिखाई देता है।

एयरपोर्ट परिसर में एक बार फिर रौशन दिखने से एयरपोर्ट पर तैनात सुरक्षाकर्मियों और अन्य विभागों में सावधानी बढ़ी है। गुलदार ने एयरपोर्ट चहारदीवारी के पास दो गोवंश को निवाला भी बनाया है।

सुबह एयरपोर्ट पर तैनात सभी विभागों को मंगलवार की रात गुलदार दिखने की सूचना दी गई। एयरपोर्ट प्रशासन और सुरक्षा अधिकारियों के बीच तुरंत एक बैठक हुई। बाद में एयरपोर्ट प्रशासन ने वन विभाग को पिंजरा लगाने के लिए पत्र भेजा। जौलीग्रांट अस्पताल, एयरपोर्ट और इससे सटे इलाकों में पिछले कुछ हफ्तों से लगातार गुलदार दिखने की सूचनाएं आ रही हैं।

17 जुलाई को एयरपोर्ट पर गुलदार पहली बार देखा गया था। बाद में अस्पताल परिसर में गुलदार देखा गया और उसके बाद से स्थानीय लोगों ने एयरपोर्ट और अस्पताल से सटे क्षेत्रों में गुलदार देखने की सूचना वन विभाग को दी है।

सूचना पर थानों वन विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर नियमित गश्त भी कर रही है। लेकिन गुलदार अभी पकड़ नहीं पाया गया है। जिससे लोग रात में बाहर नहीं निकलते। जौलीग्रांट में रात भर पटाखों की आवाजें गुलदार भगाने के लिए गूंजती रहती हैं। उधर, रेंजर एनएल डोभाल ने कहा कि टीम निरंतर चल रही है। और जल्द ही एयरपोर्ट पर गुलदार को पकड़ने की कोशिश की जाएगी।

एयरपोर्ट पर सुरक्षा कर्मियों के अलावा कई दूसरे विभागों के अधिकारी और कर्मचारी 24 घंटे काम पर रहते हैं। फ्लाइट अक्सर रात और दिन चलती रहती है। गुलदार एयरपोर्ट के भीतर रहने से कभी भी खतरा हो सकता है।

Check Also

Shri Banwari Lal Purohit- A Man with entrepreneurship skills and hilarity

By-Dr Prashant Thapliyal Octagenarian Governor of Punjab and administrator of UT Chandigarh Mr Banwari Lal …