Breaking News

IND VS ENG: भारत 5वीं बार बना वर्ल्ड चैंपियन, इंग्लैंड को 4 विकेट से मात देकर जीता अंडर-19 वर्ल्ड कप खिताब

भारत ने रिकॉर्ड 5वीं बार U-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीतने के साथ ही इतिहास रच दिया। एंटीगा के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड को 4 विकेट से हराया और एक बार फिर जूनियर क्रिकेट में अपनी बादशाहत साबित की।

इस शानदार जीत के साथ ही भारतीय कप्तान यश धुल का नाम विराट कोहली जैसे दिग्गज कप्तानों के क्लब में शामिल हो गया। भारत साल 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में पहली बार, साल 2008 में विराट कोहली की कप्तानी में दूसरी बार, साल 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में तीसरी बार और साल 2018 में पृथ्वी शा की कप्तानी में चौथी बार चैंपियन बना था।
खिताबी मुकाबले में इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय गेंदबाज राज बावा और रवि कुमार के आगे पस्त नजर आई और हुए 44.5  ओवर में महज 189 रनों पर ढेर हो गई। इंग्लैंड की ओर से बल्लेबाज जेम्स रू ने सबसे ज्यादा 95 रनों की पारी खेली जिसमें उन्होंने 12 चौके जड़े।

भारतीय तेज गेंदबाज राज बावा ने 9.5 ओवर में 31  रन देकर 5  विकेट नाम किए। इस तरह बावा ICC टूर्नामेंट के फाइनल में 5 विकेट चटकाने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बन गए। उनसे पहले कोई भी भारतीय ये कमाल नहीं कर सका था। ये U-19 वर्ल्ड कप फाइनल में गेंदबाजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है।
इंग्लैंड के 189 रनों का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने पहले ही ओवर में अंगकृश रघुवंशी का विकेट खो दिया। इसके बाद हरनूर सिंह और शेख रशीद ने संभलकर खेलते हुए बेहतरीन साझेदारी की। इस दौरान भारत ने बीच में विकेट गंवाए लेकिन निशांत सिंधु के नाबाद अर्धशतक के दम पर 48वें ओवर में 6 विकेट खोकर वर्ल्ड कप मुकाबला अपने नाम कर लिया।

भारत का U-19 वर्ल्ड कप में ये 8वां और लगातार चौथा फाइनल था जिसमें उसने जीत हासिल करते हुए 5वीं बार खिताब पर कब्जा जमाया। भारत इकलौती ऐसी टीम है जिसने 8 U-19 वर्ल्ड कप फाइनल खेलते हुए 5 खिताब अपनी झोली में डाले हैं।

ICC U-19 वर्ल्ड कप 2022 में अंगकृष रघुवंशी भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे जिन्होंने 5 मैचों में 55.60 की औसत से 278  रन बनाए। वहीं, विकी ओस्तवाल टूर्नामेंट में भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 6 मैचों में 13.33 की औसत से 12 विकेट अपनी झोली में डाले।
भारत के राज बावा इस टूर्नामेंट के ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से कमाल किया। बावा ने न केवल U-19  वर्ल्ड कप 2022 में युगांडा के खिलाफ नाबाद 162 रन की पारी खेलते हुए इस टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर बनाया बल्कि फाइनल में 5 विकेट चटकाते हुए U-19 वर्ल्ड कप फाइनल के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज भी बने।

Check Also

हरियाणा में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी और पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी भाजपा- अमित शाह

चंडीगढ़। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने माता मनसा देवी की भूमि पंचकूला से घोषणा करते …

Leave a Reply