Breaking News

मुनिकीरेती पालिका ने खुले में युवक डालने वालों पर ही कार्यवाही काटे चालान

ऋषिकेश (दीपक राणा)।  नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला क्षेत्रान्तर्गत खुले में सीवर डाल रहे प्रतिष्ठान और आश्रमों पर निकाय की ओर से चालानी कार्यवाही की गई। इसकी तत्काल रोकथाम हेतु प्रतिष्ठान एवं आश्रमों के स्वामियों को निर्देशित किया गया। आदेशों का अनुपालन न होने की दशा में कार्यवाही के लिए चेताया गया।
स्वच्छ सर्वेक्षण में लगातार बीते चार वर्षों से अपनी बादशाहत को कायम रखने वाली नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला ने खुले में सीवर डालने वालों के विरूद्ध कड़ा रूख अख्तियार किया है। पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी एवं ईओ तनवीर सिंह मारवाह के निर्देशानुसार नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती-ढालवाला स्वच्छता, आगामी जी20 सम्मेलन एवं चार धाम यात्रा की तैयारियों में जुट गई है। इसके अतंर्गत क्षेत्र में स्वच्छता को बरकरार रखना पालिका का प्रथम कर्तव्य है।
बुधवार को स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक मनोज बिष्ट को एक प्रतिष्ठान व दो आश्रमों के द्वारा खुले में सीवर डालने की शिकायतें प्राप्त हुई। जिसके बाद स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक पालिका की क्यूआरटी टीम के संग मुनिकीरेती स्थित मधुबन आश्रम तिराहा पर पहुंचे। यहां स्थित ओम प्लाजा में तिरूपति सूट्स ए लग्जरी स्टे का सीवर खुली नाली में गिरता हुआ पाया गया, जिस कारण यहां चारों ओर आसपास भयंकर दुर्गंध का माहौल बना हुआ था। इस पर स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक मनोज बिष्ट बिफर गए, स्टे के मैनेजर को मौके पर ही बुलाकर उन्होंने जमकर फटकार लगाई और पांच हजार रूपए का चालान किया, साथ ही नाली में गिर रहे सीवर तत्काल बंद करवाते हुए स्टे के मैनेजर को पुनः सीवर खुले में न डालने के लिए चेताया। इसके बाद स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक टीम के संग लक्ष्मणझूला रोड स्थित श्री हरिहर कैलाश ज्ञानपीठ न्यास आश्रम में पहुंचे, यहां भी आश्रम के द्वारा खुले में सीवर डालना पाया गया। जिस पर तत्काल कार्यवाही करते हुए स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक ने आश्रम संचालक को मौके पर ही बुलाकर स्थिति से अवगत कराते हुए पांच हजार रूपए का चालान काटा व खुले में गिर रहे सीवर को तत्काल टैप करने हेतु निर्देशित किया। इसके बाद स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक रामझूला स्थित प्राचीन श्री हनुमान मंदिर आश्रम में पहुंचे, यहां भी आश्रम द्वारा खुले में सीवर गिरता हुआ पाया गया। इस पर कार्यवाही करते हुए स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक ने पांच हजार रूपए का चालान काटा एवं आश्रम संचालक को खुले में गिर रहे सीवर को तत्काल टैप करने हेतु निर्देशित किया। जिसके बाद आश्रम संचालक पालिका टीम के संग धमकी देने व अभद्रपूर्ण व्यवहार करने लगा, मगर स्वास्थ्य एवं सफाई निरीक्षक के तल्ख तेवरों के आगे आश्रम संचालक की एक न चली। उन्होंने आश्रम द्वारा खुले में गिर रहे सीवर को तत्काल टैप न किए जाने की स्थिति में कार्यवाही हेतु चेताया। कार्यवाही में क्यूआरटी के किशन लाल भट्ट, जितेंद्र सजवाण, विरेन्द्र पोखरियाल, ज्योति पसपोला, प्रमोद उपस्थित थे।

Check Also

अवैध रूप से शराब पिलाने वाले होटल संचालकों के विरुद्ध कार्रवाई एक अभियुक्त गिरफ्तार

मुनि की रेती  ऋषिकेश, दीपक राणा।  दिनांक 30-03-24 को मुनि की रेती पुलिस द्वारा ,श्री …