Breaking News

राहुल गांधी आज छत्तीसगढ़ पहुंचेंगे: बिलासपुर में होने वाली चुनावी सभा का राजनीतिक महत्व क्या है?

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को बस ढाई महीने बचे हैं। इसलिए छत्तीसगढ़ में चुनावी उत्साह बढ़ा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के निरंतर दौरे हो रहे हैं।

 

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को बस ढाई महीने बचे हैं। इसलिए छत्तीसगढ़ में चुनावी उत्साह बढ़ा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के निरंतर दौरे हो रहे हैं। साथ ही, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ का तीसरी बार दौरा करेंगे। वे आज सोमवार, 25 सितंबर को बिलासपुर में एक महत्वपूर्ण चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। वह तखतपुर के परसदा गांव में राज्य स्तरीय आवास न्याय सम्मेलन में भाग लेने जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उपमुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव, प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा और कई मंत्री और कांग्रेसी नेता इस कार्यक्रम में भाग लेंगे। इस दौरान 524 करोड़ रुपये की लागत से 185 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और उद्घाटन होगा। सभी कार्यक्रम की तैयारियां पूरी हो गई हैं। राहुल गांधी हितग्राहियों को साढ़े सात लाख रुपये की आवास योजना देंगे।

राहुल गांधी का ये तीसरा दौरा छत्तीसगढ़ होगा। कांग्रेस के 85वें राष्ट्रीय अधिवेशन में पहले नवा रायपुर गए। 2 सितंबर को नव रायपुर के मेला ग्राउंड में युवा सम्मेलन को संबोधित किया। अब वे 25 सितंबर को बिलासपुर में तीसरी बार आ रहे हैं। दूसरी ओर, 28 सितंबर को बलौदाबाजार में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकाअर्जुन खड़गे चौथी बार छत्तीसगढ़ आएंगे। खड़गे बलौदाबाजार में बेरोजगारी भत्ता, किसान न्याय योजना, गोधन योजना, भूमि श्रमिक न्याय योजना आदि प्रदान करेंगे। वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे प्रदेश में चौथी बार आ रहे हैं। 28 सितंबर को वह बलौदाबाजार पहुंचेंगे। 8 सितबंर को राजनांदगांव जिले के ठेकवा में भरोसे का सम्मेलन हुआ था। इस दौरान 1867 के 355 करोड़ 23 लाख रुपये के विकास कार्यों के लोकार्पण के लिए भी भूमिपूजन किया गया था। जांजगीर-चांपा में भरोसे का सम्मेलन में पहुंचे थे। खड़गे ने पहले कांग्रेस के 85वें राष्ट्रीय अधिवेशन में भाग लिया था। जांजगीर चांपा, राजनांदगांव और में एसटी, एससी और ओबीसी समुदायों का ध्यान चुनावी सभाओं पर था। क्योंकि एसटी और एससी वर्ग इन दोनों स्थानों पर बहुतायत में है बलौदाबाजार में अब चौथी बार भरोसे का सम्मेलन कराने की तैयारी हो रही है। यहां भी एसटी, एससी और ओबीसी समीकरण पर कार्यक्रम हैं।

इसके अलावा, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का 4 अक्टूबर को कांकेर दौरा प्रस्तावित है। इसके बावजूद, उनका दौरा अंतिम नहीं हुआ है। कांकेर में एक मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन होगा। दूसरी ओर, नगरीय निकाय और पंचायती राज के जनप्रतिनिधियों की बैठक भी होगी।

राहुल गांधी का छत्तीसगढ़ दौरा बहुत खास है। राहुल गांधी की बिलासपुर की चुनावी सभा का महत्व क्यों है? पढ़ें ये विशिष्ट राजनीतिक विश्लेषण रिपोर्ट..।

दो सितंबर को नव रायपुर के मेला ग्राउंड में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनावी सभा हुई। इसमें उन्होंने युवा कांग्रेस के नेताओं से चर्चा की और उनका उत्साहवर्धन किया। सभा में लगभग डेढ़ से दो लाख लोग उपस्थित थे। कांग्रेस ने हालांकि चार लाख लोगों की भीड़ जुटने का दावा किया था। इस बार भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एक लाख से अधिक लोगों को एकत्र करने का लक्ष्य मिला है। सभा में 24 से अधिक विधानसभा क्षेत्रों से आने वाले लोग भाग लेंगे। यही कारण है कि यहां बैठने के लिए कई डोम बनाए जा रहे हैं।

बिलासपुर जिले की राजनीतिक स्थिति

बिलासपुर राज्य का सबसे बड़ा संभाग है। 8 जिलों के संभाग में छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक 24 विधानसभा सीटें हैं। कांग्रेस ने 13 सीटें, बीजेपी ने 7 सीटें, बसपा ने 2 सीटें और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़-जे ने 2 सीटें जीती हैं। विपरीत, जेसीसीजे ने कांग्रेस के पूर्व वरिष्ठ नेता और लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। अब वे बीजेपी में शामिल हो गए हैं। ऐसे में बिलासपुर संभाग में जेसीसीजे के पास सिर्फ एक सीट बची है। प्रदेश में 11 लोकसभा सीटों में से सिर्फ 4 बिलासपुर संभाग में हैं। बीजेपी ३ पर है, कांग्रेस १। ऐसे में कांग्रेस विधानसभा और लोकसभा चुनाव पर भी ध्यान केंद्रित है।

यूपी-बिहार के मतदाताओं पर फोकस

बिलासपुर संभाग में बहुत सारे उद्योग-धंधे और स्टील पॉवर प्लांट होने से यूपी-बिहार से लाखों लोग रहते हैं। ऐसे में कांग्रेस यूपी-बिहार के वोटर्स पर नजर है। वह हर समय इन वोटर्स को अपनी ओर खींचने के लिए तैयार है। उन्हें लुभाने की कोशिश कर रहा है। यूपी, बिहार और झारखंड के बहुत से लोग बिलासपुर, सक्ती और रायगढ़ में स्टील पावर प्लांट और जिंदल पावर प्लांट में काम करते हैं। ऐसे में कांग्रेस इन वोटर्स को देखती है।

30 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी की तीसरी बैठक बिलासपुर में ही होगी।

प्रधानमंत्री मोदी बिलासपुर में चुनाव वर्ष में आम सभा करेंगे। इसलिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है विधानसभा चुनाव में। यहां, प्रधानमंत्री मोदी बहुत सी केंद्रीय योजनाओं का उद्घाटन करने के साथ ही मतदाताओं को प्रभावित कर सकते हैं। आप कुछ बड़ी घोषणाएं भी कर सकते हैं। 30 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिलासपुर का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी इस दौरान बिलासपुर के साइंस कॉलेज ग्राउंड में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे। PM मोदी की रायपुर सभा में लगभग 1 लाख से अधिक लोग उपस्थित थे। प्रधानमंत्री मोदी ने पहले रायपुर के साइंस कॉलेज ग्राउंड और कोड़ातराई में जनसभाएं की हैं। अब वह बिलासपुर में तीसरी बार आ रहे हैं।


Check Also

हरियाणा में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी और पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी भाजपा- अमित शाह

चंडीगढ़। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने माता मनसा देवी की भूमि पंचकूला से घोषणा करते …